The Secret of Memorize Number …..(A Tool to retain & recall memory long time)

The Secret of Memorize Number …..(A Tool to retain & recall memory long time)
A Tool of retain and recall of any number in mind anytime anywhere in any condition 10X faster then normal.It is helpful to quickly recall your ATM Pin/Credit Card / Bank Account / Passwords/ Passport /License Number/Aadhar Card/Vehicle/PAN/ Law Section/ Years etc. without approach your notebook or diary.
How does happen , Please see this article and follow next step :
यह एक ऐसी तकनीक है जिसके द्धारा हम किसी भी नम्बर को आसानी से याद रख सकते है. इस तकनीक मे हम Digits को Words मे Convert कर देते है और Words को Image मे, और Image को हम Visualization तकनीक द्धारा Related विषय से Associated कर देते है. और जब भी वह Number हमे Recall करना होता है, तब उस शब्द को पुनः Number मे Decode कर देते है. इसे फोनेटिक (Phonetic) नम्बर सिस्टम भी कहते है
आइए जानते है यह काम कैसे करता है……..
यह किसी भी अंको (Numbers) को उच्चारण (Pronunciation) मे परिवर्तित कर देता है, यह उच्चारण हमारे दिमाग मे उस शब्द का एक चित्र बना देता और जिसे हम जब चाहे तब आसानी से पुनः स्मरण (Recall) कर सकते है…..
हमारे मस्तिष्क की सबसे बड़ी खास बात है की यह किसी भी  ध्वनि (Sound) और चित्र (Image) को जल्दी पकड़ता  है और लंबे समय तक हमारी स्मृति मे बनाये रखता है , बजाय कही लिखे हुए शब्दो को पढने और समझने के.
उदाहरण के लिए …इतिहास विषय काफी बच्चो को निरस (Boring)  विषय लगता है. इतिहास की पुस्तक अगर किसी को दे दी जाये तो पढ़ते पढ़ते उसी जल्दी नींद आ जाती है. अगर यही इतिहास महाभारत , रामायण, चंद्रकांता, टीपू सुल्तान , रानी लक्ष्मीबाई , शिवाजी जैसी मूवीज मे परिवर्तित कर के टी. वी. पर दिखाई जाये तो ..हम सब बड़ी ही रूचि से घंटो इसी इतिहास को जानने मे उत्सुकता बताते है…
इसका अर्थ यही है की कोई भी विषय उबाऊ नहीं होता , सिर्फ हमारा देखने का या पढ़ने का तरीका गलत होता है, अगर हम अपनी कुछ सृजनात्मक शक्ति से इसे मनोरंजन तरीके मे परिवर्तित कर दे तो किसी भी विषय को आसानी से लंबे समय तक याद रखा जा सकता है…यह हमारे विज्ञानं ने भी साबित कर दिया है, जिसे हम NLP (Neuro Liguistic Programming) की सहायता से हमारे दिमाग मे स्थायी रूप से प्रोग्राम कर सकते है.
  
किसी भी विषय को लंबे समय याद रखने के लिए दिमाग को चाहिए की……
१  वह कुछ चटपटा हो , अजब गजब हो ….क्योकि कोई भी असमान्य या बेढंग की  चीज़ हमारा दिमाग पसंद भी करता है और लंबे समय तक याद भी रखता है (Ridiculous)
२  वह हमसे या हमारी जिंदगी से किसी न किसी रूप मे जुड़ा हो (Associated)
३  उसे आसानी से कही भी , कभी भी , किसी भी रूप मे महसूस किया जा सके (Implemention)
किसी पदार्थ के रूप मे, संगीत के रूप मे या किसी बहुत बड़ी घटना के रूप मे जिसे भुलाये ना जा सके
४ वह आसानी से हमारी बंद आँखों के द्धारा देखा जा सके अर्थात उसे Visualize किया जा सके.
 
आइये जानते और समझते  है इस सूत्र को जिसके द्धारा हम अंको को शब्दो मे परिवर्तित करके उसे हमारे दिमाग मे लंबे समय तक बिना किसी भ्रम या गड़बड़ी के आसानी से रख सकते है.
हम सभी जानते है की  0 से 9 तक अंक होते है, अंग्रेजी भाषा मे 26 अक्षर , हिंदी भाषा मे 36 अक्षर  (व्यंजन)  और 13  स्वर होते है. इन्ही शब्दो की भाषा से हम किसी भी चीज़े को बुलाते है , सोचते है , देखते है , गुनगुनाते है , महसूस करते है, अहसास करते है और किसी को समझाते है.
NLP (Neuro Liginusitic Programming) की सहायता से आज हम एक ऐसी भाषा सीखने जा रहे है जो असामान्य है , अजीब गरीब है , चटपटी है , रुचिकर है और सबसे बड़ी बात हमारे स्मरण योग्य  है .
आपने कभी कार्टून मूवी , पेंटिंग , फिल्म , खिलौने देखे होंगे , इन सभी मे कही न कही दिमाग का यह अजीब सा फार्मूला काम आता ही है…..तो चलिए रूबरू होते है, इस फॉर्मूले से……
Anil Phonetic Table – Encoding Number to Image
Tool of Retain & Recall Memory :

Share this post

Post Comment

two × three =